• Thu. Jul 18th, 2024

Anant Clinic

स्वस्थ रहें, मस्त रहें ।

भारत के खिलाफ साजिश कौन कर रहा है ?

Byanantclinic0004

Apr 1, 2020
भारत को इटली बनाने की साजिश कौन कर रहा है ? | coronavirus ke khilaf jung
कोरोना से जंग जीतेंगे हम 

केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों के साथ मिलकर इस महामारी को अभी तक स्टेज 2 में ही रोककर रखा हुआ है। लेकिन लगता है कुछ लोग भारत को स्टेज तीन में भेजने की साजिश रच रहे हैं।

यह भी पढ़ें – बालों कि हर समस्या का समाधान – महाभृंगराज तेल 

भारत के खिलाफ साजिश के पीछे कौन लोग हैं ? –

1- कौन है यह लोग जो धर्म के नाम पर अधर्म फैला रहे हैं। जिनके कारण भारत पर स्टेज 3 में जाने का खतरा मंडरा रहा है इन्होंने दिल्ली को डेंजर जोन में भेज दिया है।

2- कौन है यह लोग जिन्होंने तबलीगी जमात के नाम पर दिल्ली में भीड़ जुटाई।

3- कौन लोग है यह जो दिल्ली में भीड़ जुटाकर भारत को इटली बनाने की साजिश रच रहे हैं।

4- कौन लोग हैं यह जो केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा जारी एडवाइजरी की धज्जियां उड़ा रहे हैं।

5- कौन लोग हैं यह जो भारत के 135 करोड़ लोगों की संकल्प शक्ति के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें – मूत्रविकार, मधुमेह व जोड़ों के दर्द, तथा यौन रोगों जैसे- स्वप्नदोष, वीर्य स्राव, नसों की कमजोरी आदि में त्रिवंग भस्म के फायदे और सेवन विधि 

देश में संपूर्ण लोक डाउन होने के बावजूद, दिल्ली सरकार के एक जगह 5 से ज्यादा लोगों के खड़े होने पर रोक लगाने के बावजूद, तबलीगी जमात ने दिल्ली के निजामुद्दीन की मरकज नामक बिल्डिंग में 1830 से अधिक लोगों को लेकर जलसा किया, धर्म के नाम पर अधर्म फैलाया।

तबलीगी जमात के कारण 19 राज्यों में इस महामारी के कम्युनिटी में फैलने की आशंका बढ़ गई है। क्योंकि तबलीगी जमात के कार्यक्रम के बाद यहां से लोग 19 राज्यों में अपने घरों को वापस गए हैं जिसके कारण इन राज्यों में सामुदायिक संक्रमण की आशंका बढ़ गई है।

इम्यूनिटी क्या है इसे कैसे बढ़ाएं ? <<Click Here >>

तबलीगी जमात पर बड़े खुलासे –

1- 21 मार्च को 1746 लोग दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन की मरकज में मौजूद थे। जिनमें 1530 भारतीय और 216 विदेशी नागरिक थे।
2- तबलीगी जमात से जुड़े 824 विदेशी नागरिक 21 मार्च को देश के अलग-अलग हिस्सों में मौजूद थे। जिनको जांच के बाद क्वॉरेंटाइन में भेजा जा रहा है।
3- देशभर में तबलीगी से जुड़े 2100 से ज्यादा लोगों की जांच हुई और इनको क्वॉरेंटाइन में भेजा गया, और अभी भी तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की पूरे देश में खोज जारी है।
4- 1 जनवरी से अब तक 2100 विदेशी नागरिक जोकि तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं, भारत में आए, उनमें से 1060 लोग भारत छोड़कर वापस जा चुके हैं।

5- तबलीगी जमात में शामिल 8 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है।

6- दिल्ली में तबलीगी जमात में शामिल 24 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

7- आंध्र प्रदेश में भी दिल्ली की तबलीगी जमात में शामिल 14 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।

8- तमिलनाडु में भी 7 नए केसों में से 5 लोग दिल्ली से आए थे।

9- तबलीगी जमात के कार्यक्रम का पता चलते ही दिल्ली सरकार ने इस कार्यक्रम के आयोजकों पर एफ आई आर दर्ज की है।

10- तबलीगी जमात के कार्यक्रम में देश से ही नहीं विदेशों से भी बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए थे जिनके लिए अब पूरे देश में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

11- पटना में तबलीगी जमात में शामिल 17 किर्गिस्तानियों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

12- इसके साथ एक खबर यह भी है कि तबलीगी जमात में शामिल 250 लोगों के वीजा को रद्द किया जाएगा क्योंकि इन्होंने वीजा के नियमों का उल्लंघन किया है।

13- बिजनौर के इमाम पर भी एफ आई आर दर्ज की गई है इस पर तबलीगी जमात से आए विदेशियों को मस्जिद में छिपाने का आरोप है।

14- दिल्ली में अब तक मिले 97 कोरोना संक्रमित लोगों में से 24 मरकज के हैं, जो तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल थे।

15- जमात में शामिल 411 लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए हैं, जिनमें से 24 पॉजिटिव निकले हैं।

16- 28 मार्च तक कार्यक्रम के बाद दिल्ली निजामुद्दीन के मरकज में 1587 लोग रुके हुए थे।

17- मरकज के 1810 लोगों को क्वॉरेंटाइन में रखा गया है।

तबलीगी जमात से कहां कितना बढ़ा संक्रमण –

1- तमिलनाडु में तबलीगी जमात से जुड़े 190 लोग कोरोना से पॉजिटिव पाए गए।

2- दिल्ली में भी तबलीगी जमात से जुड़े 301 लोग पॉजिटिव पाए गए।

3- महाराष्ट्र में भी आज ही के दिन 33 नए मामले सामने आए हैं।

4- पूरे देश में फैले 11080 से ज्यादा तबलीगी जमात के लोगों से संक्रमण का खतरा।

किस देश से कितने नागरिक आए तबलीगी कार्यक्रम में –

इंडोनेशिया – 72, मलेशिया – 20, थाईलैंड – 71,  इंग्लैंड – 3,  श्रीलंका – 34, नेपाल – 19, किर्गिस्तान – 28, सिंगापुर – 1, फिजी – 4, कुवैत – 2, अल्जीरिया – 1, फ्रांस – 1, म्यंमार – 33, अफगानिस्तान – 1, बांग्लादेश – 19 लोग अगले की जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

खांसी, जुकाम, बुखार की रामबाण औषधि << Click Here >>

सरकार की अपील –

सरकार ने सभी देशवासियों से अपील की है कि कृपया ऐसे लोगों के बारे में बताएं, जानकारी दें जिन पर आपको आशंका हो कि जो पिछले कुछ दिनों में विदेशों से यात्रा करके आए हैं या दिल्ली की तबलीगी जमात के कार्यक्रम से आए हैं और घरों में, मस्जिदों में छुपे बैठे हैं, अगर आपको ऐसे लोग लोगों के बारे में पता चलता है, तो कृपया केंद्र सरकार और राज्य सरकारों को सूचित करें, और साथ ही इनसे दूरी भी बनाए रखें।

तबलीगी जमात को लेकर सरकार द्वारा उठाए गए कदम –

1- 28 मार्च को सरकार द्वारा तबलीगी जमात के लिए सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी की गई।

2- तबलीगी जमात का प्रकरण सामने आते ही सरकार द्वारा सख्त कदम उठाते हुए तबलीगी जमात के आयोजकों पर एफ आई आर दर्ज की गई है।

3- तबलीगी जमात में आने वाले विदेशी टूरिस्ट वीजा पर भारत आए थे, यह भी खुलासा हुआ है जिसके तहत सरकार अब इनके वीजा रद्द करने जा रही है, एक रिपोर्ट के मुताबिक ऐसे 250 लोगों की पहचान की गई है जिन का वीजा रद्द किया जाना है।

4- मजहबी जलसे में शामिल होने के लिए अब वीजा नहीं दिया जाएगा।

5- नियम तोड़कर जलसे में शामिल हुए विदेशी नागरिकों पर अब सख्त कार्रवाई की जाएगी जिसके तहत इनके वीजा को ब्लैक लिस्ट किया जाएग।

6- इंडोनेशिया के 800 उपदेशक भी ब्लैक लिस्ट किए जाएंगे।

7- मरकज के मौलाना मोहम्मद साद पर भी उनके भड़काऊ भाषण को लेकर और तबलीगी जमात के आयोजन को लेकर एफ आई आर दर्ज की गई है।

तबलीगी जमात क्या है –

1926 में तबलीगी जमात का गठन किया गया था। हजरत मौलाना इलियास कांधलवी ने की स्थापना की थी। इस जमात का पहला कार्यक्रम 1926 में हरियाणा के मेवात के नूंह कस्बे में किया गया था।
इस जमात का मकसद दुनिया भर में इस्लाम धर्म का प्रचार प्रसार करना है। यहां तबलीगी का अर्थ है, अल्लाह की कही बातों का प्रचार करने वाला और जमात का अर्थ होता है एक खास धार्मिक समूह, दिल्ली में तबलीगी जमात का केंद्र है। 10 करोड से ज्यादा लोग दुनिया भर में इस जमात से जुड़े हैं।

तबलीगी जमात के प्रकरण के बाद देश में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, देश में अब तक 1965 मरीज  पॉजिटिव पाए गए हैं, 151 लोग ठीक हुए हैं तो वही 50 लोग इसके संक्रमण से अब तक जान गवा चुके हैं।

फिलहाल 36 घंटे के ऑपरेशन के बाद मरकज को खाली करा लिया गया है।

केंद्र सरकार ने एक बार फिर अपील की है कि सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें सिर्फ और सिर्फ अपने घरों में रहे, एक बात याद रखें ‘जान है तो जहान है’

मूंग दाल खाने के फायदे और नुकसान <<Click Here>>

नोवेल कोरोनावायरस को हराना है देश को बचाना है।<click here>

(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *