• Wed. May 22nd, 2024

Anant Clinic

स्वस्थ रहें, मस्त रहें ।

कोरोना वायरस का डर और आप

Byanantclinic0004

Mar 5, 2020

परिचय 

कोरोना वायरस एक ऐसी महामारी है जिसने कुछ ही दिनों में 183 देशों को अपनी चपेट में ले लिया है 35 से ज्यादा देश तो पिछले 10 दिनों में ही इसके संक्रमण की चपेट में आए हैं। यह जिनका स्वास्थ्य कमजोर है, या जिनका ह्यूमन सिस्टम कमजोर है, अर्थात जिन की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है, जैसे कि वृद्धों में आमतौर पर रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। ऐसे व्यक्ति इसकी चपेट में जल्दी आते हैं। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है, कि किस चीज से इसकी शुरुआत हुई और यही कारण है, कि चारों तरफ से अफवाहों का बाजार गर्म है। और एक यह कारण भी है कि लोग इसके डर से भी मर रहे हैं।

इम्यूनिटी क्या है इसे कैसे बढ़ाएं ? <<Click Here >>

कोरोनावायरस का डर –

अभी कुछ दिन पहले ही भारत के आंध्र प्रदेश राज्य में एक ऐसा मामला देखने को मिला जहां पर एक व्यक्ति को नॉर्मल इंफेक्शन हुआ था कहने का मतलब उसको खांसी जुखाम हुआ था। वह डॉक्टर को दिखाने गया और डॉक्टरों ने उसे सावधानी के तौर पर मास्क पहनने की सलाह दी अब जैसे ही वह घर आया तो उसने टीवी पर कोरोनावायरस से जुड़ी खबर देखी और उसे शक हुआ कि कहीं वह भी तो कोरोना वायरस से संक्रमित ना हो गया हो और इसी डर से उसने आत्महत्या कर ली दोस्तों यह कहां तक सही है अब आप ही नीचे कमेंट में मुझे जरूर बताएं, इतना डर आप को मरने से पहले ही  मार रहा है।

कोरोना वायरस पर फैली इन 15 अफवाहों से बचें।

क्या डरना जरूरी है –

दोस्तों अब सवाल ये उठता है क्या डरना जरूरी है, तो मैं कहूंगा हां डरना तो जरूरी है, क्योंकि इसने बहुत ज्यादा बड़े पैमाने पर अपने पैर पसार लिए हैं। और इसकी वजह से न जाने कितने ही देशों की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा है, सबसे ज्यादा चीन की अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ है। इसकी वजह से कितने ही इवेंट स्थगित कर दिए गए हैं, और इसी की वजह से आने वाले ओलंपिक इवेंट पर भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। अब तक दुनिया भर में लगभग 25,17,500 से ज्यादा लोग इसके संक्रमण में आ चुके हैं, और अकेले चीन में ही कोरोनावायरस से 4632 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन एक राहत की बात यह है कि उनमें से 6,60,100 के करीब लोगों का सफलतापूर्वक इलाज हो गया है।

भारत में भी अब यह धीरे-धीरे अपने पैर पसारने शुरू कर रहा है। भारत में अब तक देश के स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक कोरोना वायरस से संक्रमित कुल 29 मरीज कंफर्म हो चुके हैं। जिनमें से केरल के तीन मरीजों का सफलतापूर्वक इलाज हो चुका है। बाकी 25 मरीजों में से 16 इटली के नागरिक हैं, जो बतौर टूरिस्ट भारत में आए हैं। एक मरीज इटली के इन सैलानियों का ड्राइवर है, जो भारत का नागरिक है। इसके अलावा एक मरीज दिल्ली का है जिस के संपर्क में आने से उसके ही 6 रिश्तेदार भी कोरेना वायरस की चपेट में आ चुके हैं, जबकि आखरी एक मरीज तेलंगाना का है।

यह भी पढ़ें – बालों कि हर समस्या का समाधान – महाभृंगराज तेल 

लेकिन इसके बावजूद दोस्तों मैं कहूंगा आपको इससे इतना ज्यादा डरने की जरूरत नहीं है कि आप आत्महत्या जैसे कदम उठाएं। इससे सिर्फ उतना ही डरें जितना हम अपनी मौत से डरते हैं, कहने का मतलब यह एक सर्वमान्य सत्य हैं, कि एक न एक दिन हमारी मौत आनी है। और वह 1 दिन कब आ जाए किसी को पता नहीं। मुझे पता नहीं कि मैं अपना ब्लॉग पूरा कर पाऊंगा या नहीं, आपको पता नहीं कि आप अगला कदम रख पाएंगे या नहीं। लेकिन उसके बावजूद भी हम सालों तक के फ्यूचर प्लान बना कर चलते हैं।
कहने का मतलब हमें उम्मीद होती है कि हमने जो प्लान बनाए हैं हम उनको पूरा करेंगे और इस बीमारी से उबरने के लिए भी या इस संक्रमण से जीतने के लिए भी हमें इसी प्रकार के हौसले की उम्मीद की जरूरत है वह स्लोगन तो आप लोगों ने सुना ही होगा, कि ” डर के आगे जीत है। ”

इसलिए मैं आपसे कहता हूं। इससे डरे नहीं बल्कि सचेत रहें, सावधान रहें, और अपने परिचितों को भी सावधान करें आपको कौन – कौन सी सावधानियां रखनी चाहिए आइए जानते हैं।

( सूतशेखर रस के फायदे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें )

उससे पहले कोरोनावायरस के लक्षणों पर एक नजर डालते हैं। 

दोस्तों कोरोनावायरस के प्रमुख लक्षणों की बात करें तो इसमें खांसी, जुखाम, बुखार होना, सांस लेने में तकलीफ व थकावट महसूस होना आदि हैं।
अब आप ही बताएं अपने जीवन में हम कितने बार ही इन लक्षणों का सामना कर चुके हैं। तो इनसे डरने की या घबराने की जरूरत नहीं है, और आयुर्वेद के अनुसार  फरवरी-मार्च का मौसम भी इन लक्षणों का प्रधान मौसम होता है, कहने का मतलब इस मौसम में यह लक्षण होना आम बात है।

कोरोनावायरस कैसे फैलता है –

1 – स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि रोगी व्यक्ति के नजदीक से गुजरने पर आपको कोरोनावायरस होगा या नहीं यह चार चीजों पर निर्भर करता है।

( १ ) उनमें सबसे पहला है कि आप कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के कितना नजदीक जाते हैं।

( २ ) दूसरा इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति के खांसते या छींकते वक्त उसके ड्रॉपलेट्स आप पर गिरे हैं या नहीं।

( ३ ) आप संक्रमित व्यक्ति को छूने या उसके नजदीक जाने या संक्रमित अन्य सामान को छूने के बाद आप अपने चेहरे पर हाथ लगा रहे हैं या नहीं।

( ४ ) चौथा आप अपने स्वास्थ्य के प्रति कितने जागरूक हैं, या यूं कहें कि आप कितने स्वस्थ हैं। आपकी उम्र कितनी है, क्योंकि यह उम्रदराज लोगों को जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। जिसकी वजह से यह उनको अपना शिकार जल्दी बनाता है।

कुछ सवाल जो आपके जेहन में भी आते होंगे –

अब सवाल यह उठता है कि पीड़ित व्यक्ति से फिर कितनी दूरी होनी चाहिए?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के एक प्रवक्ता क्रिस्चियन लिंडमियेर का कहना है कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति से कम से कम 3 फीट दूर रहना चाहिए।

वहीं इससे अलग ‘द सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन’ की तरफ से जारी दिशानिर्देश में पीड़ित व्यक्ति से 6 फीट की दूरी होना जरूरी बताया गया है।

क्या पीड़ित व्यक्ति के एक बार संपर्क में आने पर ही आप संक्रमित हो जाते हैं ?

स्वास्थ्य विशेषज्ञ अभी तक इस नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं कि पीड़ित व्यक्ति के कितनी बार संपर्क में आने से आपको कोरोनावायरस हो सकता है, उनका कहना है कि जितना ज्यादा रोगी के नजदीक जाएंगे, खतरा उतना ज्यादा होगा।

क्या सार्वजनिक स्थलों पर चीजों को छूने या बस ट्रेन में सफर करने से भी फैलता है वायरस?

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि ट्रेन या किसी भी सार्वजनिक स्थल पर चीजों को छूने से कोरोना वायरस फैलने का पूरा खतरा है। हांगकांग के सेंटर फॉर हेल्थ का दावा है कि यहां एक बोद्ध मंदिर में आने वाले कई श्रद्धालु इसी वजह से इस जानलेवा वायरस के शिकार हुए हैं।

क्या सेक्स या किस करने से करोना वायरस फैलता है?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का कहना है कि कोरोनावायरस सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिसीज नहीं है। वही उनका यह भी कहना है, कि पीड़ित व्यक्ति को किस करने से निश्चित तौर पर ही यह आपको भी संक्रमित कर देगा।

क्या संक्रमित व्यक्ति ने जहां खाना खाया हो वहां खाना खा सकते हैं?

यदि पीड़ित व्यक्ति ने खुद खाने को हाथ लगाया हो या कम स्पेस में ज्यादा लोग भोजन करने के लिए इकट्ठे हो तो वायरस का खतरा बढ़ सकता है, हालांकि खाने को अच्छी तरह से गर्म करने पर वायरस निष्क्रिय भी हो सकता है।

तबलीगी जमात के लोगों पर योगी सरकार का बड़ा एक्शन <Click Here>

सावधानियां  –

1 – खांसते और छिंकते वक्त नैपकिन का इस्तेमाल करें और अगर नैपकिन ना हो तो अपनी बाजू का इस्तेमाल करें।

2 – किसी अन्य चीज को छूने के बाद अपने चेहरे को ना छुएं।

3 – बार-बार हाथों को साबुन से धोते रहें। हाथ धोने के बाद किसी साफ कपड़े से पोंछें या ड्रायर से हाथों को सुखाएं।

4 – साबुन से धोने के साथ-साथ आप सैनिटाइजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, हालांकि अभी तक इसके लिए कोई विशेष साबुन या सैनिटाइजर नहीं बना है, हालांकि 60% अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर को इसके लिए बेहतर बताया गया है।

5 – किसी भी बाहरी व्यक्ति से हाथ न मिलाएं और अगर मिलाते भी हैं तो तुरंत हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोएं या सेनीटाइजर का इस्तेमाल करें। इन सबसे अच्छा है कि आप सामने वाले व्यक्ति से हाथ न मिलाकर – हाथ जोड़कर उसका अभिवादन करें।
( इस एक बात ने पश्चिमी सभ्यता को फिर से आईना दिखाया है, क्योंकि हम हिन्दूओं में और हमारे सनातन धर्म में पहले से ही हाथ जोड़ कर एक दूसरे का अभिवादन करने की प्रथा हजारों सालों से रही है। अब इस वायरस की वजह से इजरायल के प्रधानमंत्री और अन्य कुछ देशों ने भी अपने देशवासियों को हम भारतीयों की तरह हाथ जोड़कर अभिवादन करने की सलाह दी है। )

6 – सार्वजनिक जगहों पर कुछ भी छूने से बचें बस मेट्रो या अन्य किसी चीज को छूने से बचें, हालांकि आम जनमानस के लिए यह है मुश्किल है, क्योंकि अपनी रोजी रोटी के लिए वह रोजाना घर से निकलता है और सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट का ही इस्तेमाल करता है। ऐसे में आप अपने हैंडबैग में एक सैनिटाइजर अवश्य रखें और समय-समय पर अपने हाथों को साफ करते रहें।

7 – सार्वजनिक स्थानों पर जाने से पहले अपने मुंह को अच्छी तरह कवर करके जाएं इसके लिए N95 मास्क पहनना ना भूलें।

8 – बार-बार आंख, नाक, मुंह पर हाथ लगाने से बचें  परहेज करें अगर ऐसा करते हैं तो तुरंत हाथों और चेहरे को अच्छे से धोएं।

9 – अपने घर के आसपास- अंदर और बाहर सफाई रखें।

10 – अच्छी डाइट का विशेष ध्यान रखें अपने इम्यूनिटी को बूस्ट करने वाला खाना अपनी डाइट में शामिल करें। आपकी डाइट जितनी अच्छी होगी वायरस से खतरा उतना ही कम होगा।

आइए इम्यूनिटी को बढ़ाने वाले कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में जानते हैं।

1 – गिलोय –

गिलोय एक बहुत अच्छा और आसानी से फ्री में उपलब्ध एंटीबायोटिक है यह आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने में बहुत अच्छा काम करता है। इसका कई तरह से प्रयोग किया जा सकता है।

( १ ) गिलोय और तुलसी के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीना आपके लिए फायदेमंद है |

( २ ) गिलोय, हल्दी, गेहूं का जवारा और एलोवेरा इन चारों को लेकर जूस बना ले और कुछ दिनों तक नियमित इसका सेवन करें यह भी आपकी इम्यूनिटी को आश्चर्यजनक रूप से बढ़ा देगा।

( ३ ) आप मार्केट से बने बनाए गिलोय सत्व गिलोय घनवटी का भी प्रयोग कर सकते हैं।

( केले के चमत्कारी फायदे जानने के लिए यहां क्लिक करें। )

2 – हल्दी –

हल्दी भी एक बहुत अच्छी एंटीबायोटिक है और यह भी आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए जानी जाती है। हल्दी को आप अपने रोजाना कि डाइट में शामिल करें।
रोजाना घरों में सब्जी के मसाले के तौर पर तो इसका इस्तेमाल तो होता ही है इसके अलावा आप हल्दी का सबसे अच्छा इस्तेमाल दूध में डालकर इसका कुछ दिनों तक नियमित सेवन करें अगर आप सलाद खा रहे हैं तो उसके ऊपर भी काली मिर्च पाउडर, काला नमक और हल्दी साथ में डालकर खाएं यह भी आपके लिए एक अच्छा विकल्प है।

3 – नीम-

नीम भी इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए जाना जाता है।इसके लिए आप नीम घन वटी का सेवन कर सकते हैं जिसका मुख्य घटक नीम घनसत्व होता है।

( नीम से बढ़ाएं रोग प्रतिरोधक क्षमता जानें कैसे- यहां क्लिक करें। )

4 – योग और प्राणायाम –

दोस्तों इन सब के साथ-साथ योग और प्राणायाम करना बिल्कुल ना भूलें सबसे पहले भस्त्रिका, कपालभाति और अनुलोम-विलोम करना चाहिए।
प्राणायाम करने से भी हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
इसलिए नियमित रूप से हमें योग और प्राणायाम करते रहना चाहिए।

दोस्तों कोरोना वायरस के बारे में हमारा यह ब्लॉग आपको कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताएं और पसंद आने पर शेयर जरूर करें ताकि और लोग भी इसको पढ़ कर लाभ उठा सकें।

(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *