• Wed. May 22nd, 2024

Anant Clinic

स्वस्थ रहें, मस्त रहें ।

किडनी खराब होने के शुरुआती 3 लक्षण | kidney failure symptoms

Byanantclinic0004

May 4, 2021



दोस्तों आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और गलत खानपान ( फास्ट फूड ) के इस दौर में हमारी किडनी ( गुर्दे ) खराब होने के मामले अब भारत में भी तेजी से बढ़ते जा रहे हैं।

अगर परसेंटेज की बात करें तो लगभग 14% महिलाएं और 12% के करीब पुरुष किडनी की समस्या से परेशान हैं। वही पूरी दुनिया की बात करें तो 19% के लगभग लोग किडनी की समस्या से परेशान हैं।

यह भी पढ़ें – अपने बच्चों कि इम्मूनिटी को कैसे बढ़ाएं 

किडनी की खराबी की वजह से लगभग छह लाख से अधिक मौतें हर साल हो रही हैं। और भारत में भी किडनी खराब की वजह से होने वाली मौतों की दर निरंतर बढ़ती जा रही है।

आज हम इस पोस्ट में इसी के बारे में जानेंगे कि एक आम आदमी जो बड़े-बड़े टेस्टों के खर्चे नहीं उठा सकता वह बिना टेस्ट कराए कैसे जाने कि उसकी किडनी ( गुर्दे ) खराब होने वाली है।

यह भी पढ़ें – सांप के काटे का जहर उतरने के लिए संजीवनी वटी के उपयोग और सेवन विधि 

हमारी किडनी खराब होने के शुरुआती 3 लक्षण नीचे दिए गए हैं जिनसे आप पता लगा सकते हैं कि आपकी किडनी ( गुर्दे ) खराब होने वाली हैं या नहीं।

किडनी खराब होने के शुरुआती 3 लक्षण | kidney failure symptoms | किडनी ख़राब होने के क्या कारण है?
kidney failure symptoms



यह भी पढ़ें – सूखी खांसी के घरेलू उपाय 

1 – हमारी किडनी खराब होने के सबसे प्रमुख कारणों में से एक है कब्ज का लगातार बने रहना।

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और फास्ट फूड के इस दौर में कब्ज होना एक आम बात हो गई है, लेकिन अगर यह लगातार बनी रहती है, तो यह एक चिंता का विषय है।

2 – हमारे शरीर से पसीने का आना कम हो जाना या बंद हो जाना।

आजकल के इस मशीनी युग में ज्यादातर लोगों ने मेहनत करना बिल्कुल बंद कर दिया है। पूरा दिन ऐ सी ऑफिस में बैठे रहते हैं, गाड़ी में ऐ सी, घर में ऐ सी, ऑफिस में ऐ सी जिसके चलते पसीना आना या तो कम हो जाता है, या बिल्कुल बंद हो जाता है।

3 – पेशाब ( मूत्र ) का आना कम हो जाना या पेशाब करते समय जलन या दर्द होना।

यह भी पढ़ें – त्रिभुवन कीर्ति रस के गुण और उपयोग

अगर आपमें भी यह तीनों लक्षण दिखाई देते हैं तो यह आपके लिए एक चेतावनी है कि आप सावधान हो जाएं और अपनी दिनचर्या को बदलें और अपने आहार-विहार को सुधारें अन्यथा आपको गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

विशेष नोट – अगर आपमें भी यह तीनों लक्षण ( कब्ज का लगातार बने रहना, पसीने का कम आना या बंद होना, पेशाब का कम आना ) दिखाई देते हैं तो एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लें।



(Visited 94 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *